कैकेयी, देवकी, कौशल्या और यशोदा में सम्बन्ध क्या थे?
Blog

कैकेयी, देवकी, कौशल्या और यशोदा में सम्बन्ध क्या थे?

कैकेयी, देवकी, कौशल्या और यशोदा में सम्बन्ध क्या थे? – What was the relationship between Kaikeyi, Devaki, Kaushalya and Yashoda?

नमस्कार दोस्तों आज हम रामायण और महाभारत की कैकेयी, देवकी, कौशल्या और यशोदा में सम्बन्ध क्या थे इसके बारे में चर्चा करेंगे तो यदि आप भी जानना चाहते है की यह सब आपस में कैसे जुड़े है तो इस लेख को पूरा पढ़े।

कैकेयी, देवकी, कौशल्या और यशोदा में सम्बन्ध

कैकेयी (रामायण): कैकेयी श्री राम के पिता दयालु दशरथ की दूसरी पत्नी थीं। अपने पुत्र भरत को अयोध्या का राजा बनाने के प्रयास में, उसने दशरथ को राम को 14 साल के वनवास में भेजने के लिए मजबूर किया। दशरथ टूटे दिल से मर गए और कैकेयी को एक श्राप का सामना करना पड़ा, जिसे उन्होंने अपने पुनर्जन्म में लिया।

देवकी (महाभारत): कैकेयी का जन्म महाभारत में द्वापर युग में देवकी के रूप में हुआ था। यहाँ उसके श्राप के कारण, संयोग से उसे अपने पुत्र कृष्ण से 14 साल (राम के वनवास की अवधि) के लिए दूर रहना पड़ा, इससे पहले कि वह कंस को मारकर उसे मुक्त करने के लिए वापस आए।

कौशल्या (रामायण): कौशल्या राजा दशरथ की सबसे बड़ी पत्नी और श्री राम की मां थीं। वह एक बहुत ही देखभाल करने वाली माँ थी और अपने सभी सौतेले बेटों से समान रूप से प्यार करती थी। जब उसके बेटे को 14 साल के लिए उससे दूर भेज दिया गया तो उसका दिल टूट गया। लेकिन भगवान राम ने उनके अगले अवतार में भी उनके साथ रहने का वादा किया।

यशोदा (महाभारत): कौशल्या का महाभारत में यशोदा के रूप में पुनर्जन्म हुआ था। वह श्री कृष्ण की पालन-पोषण करने वाली माँ बनीं, जिन्होंने अपने जीवन के पहले 14 वर्ष उनके साथ बिताए। उन्होंने इस तरह अपना वादा निभाया।

Relation.